महाकवि सूरदास की जयंन्ती पर महापौर ने किया सूरदास प्रतिमा पर माल्र्यापण

सामाजिक

आगरा। महाकवि सूरदास की 541वीं जयंती के उपलक्ष्य में सूर स्मारक मंडल की ओर से सूरसदन स्थित प्रतिमा पर माल्यार्पण और विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में महापौर नवीन जैन मुख्य अतिथि के रूप में पहुँचे। महापौर नवीन जैन ने सूर स्मारक मंडल के सभी सदस्यों के साथ महाकवि सूरदास की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए। प्रतिमा पर माल्यार्पण के दौरान महापौर ने महाकवि सूरदास के प्रति अपने विचार रखे और उन्हें सर्वश्रेष्ठ कवि बताया।

उनका कहना था कि आज भी उनका जीवन परिचय और उनके दोहे स्कूलों में पढ़ाये जाते है। सूरदास जी भले ही अंधे थे लेकिन अपनी प्रतिभा के कारण वो उन सभी लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत बन गए जो नेत्रहीन थे। आज ब्रेल लिपि के माध्यम से वो भी शिक्षा ग्रहण कर अपना भविष्य संवार रहे है।

इस कार्यक्रम के दौरान संस्था के अध्यक्ष प्रोफेसर बृजेश चंद्र ने सूर सदन में सूरदास जी की लगी प्रतिमा को संवारने, उस प्रतिमा के ऊपर छतरी लगाए और प्रतिमा के पास सीढ़ी लगाए जाने की मांग उठाई। उनका कहना था कि धूप और बारिश के कारण महाकवि सूरदास जी की प्रतिमा खराब हो रही है इसलिए इसकी बेहतर रखरखाव की जरूरत है जिससे हम अपने साहित्य तो संजो के रख सकें। महापौर नवीन जैन ने संस्था के इस मांग को गंभीरता से लिया और उनकी मांग पर कार्य कराने का आश्वासन दिया

इस दौरान सूर स्मारक मंडल के अध्यक्ष प्रोफेसर बृजेश चंद्र डीके महेश्वरी राजीव सक्सेना अखिलेश श्रोत्रीय गिरीश चंद शर्मा मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *