मैं तो वृंदावन को जाऊं री सखी, मेरे नैना लगे बिहारी से…

धार्मिक

महर्षिपुरम कॉलोनी की महिलाओं ने मनाई फूलों की होली, चंदन लगाकर किया स्वागत

आगरा। महर्षिपुरम की सखियों ने फूलों की होली का आयोजन उत्साह व उमंग के साथ किया। सभी सखियों का स्वागत चंदन लगाकर स्वागत किया। गुलाब के महकते फूलों से सुशोभित विराजमान लट्टू गोपाल जी के समक्ष सभी ने एक दूसरे को होली की शुभकामनाएं दीं। भजन और होली के गीतों पर भक्तिमय नृत्य कर उल्लास के साथ होती उत्सव मनाया।

सर्वप्रथम गणेश की स्तुति की गई। गीता शर्मा के आवास पर आयोजित होली उत्सव में इसके बाद फूलों की होली के उत्साह व उमंग के साथ प्रारम्भ हुआ श्रीकृष्ण और राधा की भक्तिमय भजनों का सिलसिला। आज बिरज में होली रे रसिया…, मैं तो वृंदावन को जाऊं री सखी, मेरे नैना लगे बीहारी से…, कभी राम का नाम लिया नहीं, कभी ज्ञान का दीप जलाया नहीं जैसे भजन जाए। ढोलक की थाप व मंजीरों के संगीत पर जब भजनों का सिलसिला चला तो सखियों खुद को नृत्य करने से भी न रोक सकी। अंत में लट्डू गोपाल जी की आरती कर सभी को प्रसाद वितरित किया गया। इस अवसर पर मुख्य रूप से गीता शर्मा, प्रीति, रश्मि, रेखा, मधु, डेजी, वंदना, नीलम, मनोज शर्मा, रमा, अर्चना, कृष्णा, नीती  उपस्थित थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *